14 अग॰ 2014

tidbits

ऐ सनम, मुझे अपनी बाँहों का सहारा दे दो,
जीवन हलचल से निकलने की एक धारा दे दो।
खानाबदोश सा जीवन, शायराना मेरा मन,
जिस्म को सुकून, जिन्दगी को एक दायरा दे दो।